प्रादेशिक भाषाएँ हैं भारत में इन्टरनेट उपयोंग में वृद्धि की कुंजी।

नमस्कार मित्र , आजकल अपने phd थेसिस में काफी व्यस्त हूँ । आप में से कुछ लोगों को मालूम होगा कि मेरे अनुसन्धान का विषय  मीडिया, समुदाय और तकनीकी से जुड़ा हुआ है। ख़ास तौर से, अपने थेसिस में मैं इन्टरनेट के उपयोंग में भाषा की भूमिका की जाँच कर रहा हूँ । अभी तक मैंने नतीजों के तौर प़र  यह पाया है, कि इन्टरनेट के उपयोंग को बढाने में स्थानीय भाषाओं मे websites का उपलद्ध होना अनिवार्य है। यही नहीं, बल्कि तमाम देशों में कंप्यूटर keyboards… Read more “प्रादेशिक भाषाएँ हैं भारत में इन्टरनेट उपयोंग में वृद्धि की कुंजी।”